सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला जज फातिमा बीबी का निधन

ख़बर शेयर करें -

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट की पहली महिला जज फातिमा बीबी का 96 साल की उम्र में गुरुवार को निधन हो गया। वह तमिलनाडु की राज्यपाल भी रह चुकी हैं। फातिमा बीबी साल 1989 में शीर्ष अदालत की पहली महिला न्यायधीश के रुप पर नियुक्त की गई थीं। उन्हें 3 अक्टूबर 1993 में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोगी की सदस्य बनाया गया था। उनका पूरा नाम मीरा साहिब फातिमा बीबी है।

फातिमा बीबी का जन्म सन् 30 अप्रैल 1927 को केरल राज्य के ट्रावनकोर के पत्तनममिट्टा गांव में जन्म हुआ था। इनके पिता का नाम मीरा साहिब था। उन्होंने फातिमा को कानून की पढ़ाई के लिए तिरुवनंतपुरम के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज में दाखिला कराया था। उन्होंने साल 1950 में बार काउंसिल परीक्षा में गोल्ड मेडल के साथ टॉप किया। बार काउंसिल गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाली पहली महिला फातिमा बीबी थी। उन्होंने केरल में एक अधिवक्ता के रुप में अपना करियर शुरु किया और 1974 में जिला और सत्र न्यायधीश बनने तक का काम किया।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  कोविड में कोविशील्ड लगवाई थी क्या ? बहुत बड़ी और बहुत बुरी खबर सामने आई है, कंपनी ने भी कुबूल लिया