हल्द्वानी-कुमाऊं आयुक्त deepak rawat ने सुनीं जनसमस्याएं, फरियादियों से कहा अगर ज़मीन खरीदें तो तुरंत करा लें यह काम

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। जन समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण हेतु मण्डलायुक्त दीपक रावत ने कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम में अधिकारियों और फरियादियों को आमने-सामने सुनकर समस्याओं का निस्तारण किया। जनसुनवाई कार्यक्रम में भूमि सम्बन्धित विवाद काफी संख्या में आने पर आयुक्त ने आमजनता से अपील की है कि भूमि क्रय करने के पश्चात भूमि की चाहरदीवारी अवश्य करालें तथा समय-समय पर क्रय की गई भूमि की रेखदेख भी अवश्य करें। उन्होंने कहा कि काफी लोग भूमि क्रय करने के उपरान्त भूमि की ना तो चाहरदीवारी करते हैं ना ही देखरेख करते है कुछ समय पश्चात उक्त क्रय की गई भूमि पर अतिक्रमण हो जाता है।

उन्होंने कहा अतिक्रमण से बचने के लिए क्रय की गई भूमि पर चाहरदीवारी के साथ ही मानिटरिंग की जाए जिससे अतिक्रमण से बचा जा सके। ग्राम चैनपुरी, चिल्किया तहसील रामनगर के दर्जनों ग्रामवासियों ने आयुक्त को बताया कि नैनी स्टोन इण्ड्रस्टी के नाम से स्ट्रोन क्रेशर लगा है क्षेत्रवासियों ने बताया कि जिस स्थान पर स्टोन क्रेशर स्थापित है वहां पर किसानों द्वारा खेती के साथ ही बागवानी भी की जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में ईडी की कार्रवाई से हड़कंप, अमरीका में सज़ा काट रहे कारोबारी के घर पड़ा छापा

जिससे धूल के कारण खेती व बागवानी के साथ ही क्षेत्रावासियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। आयुक्त ने उपजिलाधिकारी रामनगर के साथ ही खनन अधिकारियों को निर्देश दिये कि खनन का स्टॉक का जिस स्थान पर भण्डारण किया गया है उस स्थान से तीन मीटर की चाहरदीवारी ऊंची हो तथा समय-समय पर मार्ग मंे पानी का छिड़काव किया जाए एवं खनन सामग्री एक स्थान से दूसरे स्थान को ढक कर ले जायी जाए। नगर निगम द्वारा मल्ला गोरखपुर-नवाबी रोड में सड़क निर्माण का कार्य किया जा रहा है पिछले जनता मिलन कार्यक्रम में शिकायतकर्ता द्वारा शिकायत की गई थी कि सड़क की गुणवत्ता काफी खराब है जिस पर आयुक्त ने शिकायतकर्ता, नगर निगम के अधिकारी एवं ठेकेदार को बुलाया संवाद करने पर 250 मी. सड़क की गुणवत्ता कापफी खराब होने की पुष्टि हुई। जिस पर आयुक्त ने 250 मी. में पुनः सड़क बनाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही जनमिलन में रमेश शर्मा निवासी मल्ला चोरगलिया ने बताया कि धोखे से उनकी भूमि को नरेश पुरी ने अपने नाम रजिस्ट्री कर दाखिल खारिज कर लिया गया। जिस पर आयुक्त ने राजस्व निरीक्षक, तहसीलदार, शिकायतकर्ता को राजस्व अभिलेखों के साथ आगामी जनमिलन कार्यक्रम में उपस्थित रहने के निर्देश दिये। जनमिलन कार्यक्रम में आयुक्त श्री रावत द्वारा अधिकांश शिकायतों का निस्तारण शिकायकर्ता एवं अधिकारियों के साथ संवाद कर समाधान किया।

Ad