हल्द्वानी-प्रेमी को सांप से डसवाकर उतारा था मौत के घाट, माही पकड़ी गयी बॉयफ्रैंड के साथ (अंकित हत्याकांड)

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। प्रेमी से पीछा छुड़ाने के लिए प्रेमी को ज़हरीले सांप से डसवाकर मौत के घाट उतरवाने वाली प्रेमिका माही उर्फ़ डॉली को पुलिस ने उसके बॉयफ्रेंड का साथ रुद्रपुर से गिरफ्तार कर लिया है। यह दोनों गुडगांव से हल्द्वानी आत्मसमर्पण करने के लिए आ रहे थे। इस पूरे मामले का खुलासा आज आईजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे और एसएसपी नैनीताल पंकज भट्ट ने संयुक्त रूप से किया।

आईजी कुमाऊं नीलेश आनंद भरणे ने बताया अंकित हत्याकांड के मुख्य आरोपी माही है, जिसने इस हत्याकांड की साजिश रची थी। अपने प्रेमी अंकित को सांप से डसवाकर उसकी हत्या करवा दी थी, जिसमें पुलिस ने सबसे पहले रमेश नाथ नाम के सपेरे को गिरफ्तार किया था, लेकिन मुख्य साजिशकर्ता माही और उसका आशिक दीप कांडपाल समेत अन्य आरोपी फरार हो गए थे, जिसके बाद आज दोनों को पुलिस ने रुद्रपुर से गिरफ्तार किया है।

ज्ञात हो कि होटल कारोबारी अंकित चौहान की बीते शनिवार को बरेली रोड में एक कार में लाश बरामद हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अंकित को सांप के डसने की पुष्टि हुई थी। पुलिस की तफ्तीश जैसे जैसे आगे बढ़ी ये मामला बेहद ही सनसनीखेज तरीके से सामने आया। अंकित की प्रेमिका माही ने अपने नए बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर साजिश रची। सपेरे को तैयार किया गया। सपेरे को तैयार करने के लिए माही सपेरे के साथ दो बार हमबिस्तर हुई और उसे दस हजार रुपये भी दिए। माही ने अपने नौकर नौकरानी को भी इसमें शामिल किया और प्लानिंग कर अंकित को सांप से दस्वकर मार डाला।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में उत्तराखण्ड बेरोज़गार संघ के अध्यक्ष बॉबी ने युवाओं को राजनीतिक लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा

पुलिस पूछताछ में माही ने बताया कि वह बरेली से दिल्ली भागे थे। जहा वह कई महंगे होटलों में रुके। इसके बाद वहा से कोर्ट में सरेंडर होने के लिए हल्द्वानी आ रहे थे तभी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। बताया की उन्होंने अंकित को बीयर पीने के लिए बुलाया था जिसके बाद अंकित घर पहुंचा तो वह भीगा था। बारिश में भीगने से वह माही के बेड पर कंबल ओढ़कर लेट गया। तभी चारों ने उसे दबा दिया और सपेरे ने साप से उसकी जींस ऊपर कर कटवा दिया। इसके बाद अंकित तड़पता रहा। इस बीच उसे दूसरी बार फिर कटवाया जिसके बाद अंकित की मौत हो गई। इसके बाद राम अवतार और दीप कांडपाल गाड़ी लेकर लाश को ठिकाने लगाने के लिए जगह खोजने गए।

यह भी पढ़ें 👉  निकाय चुनाव के लिए नैनीताल प्रशासन ने शुरू की तैयारियां, संवेदनशील बूथों का निर्धारण

इसके बाद अंकित की लाश को कार में डालकर भुजियाघाट की ओर ले गए। वहा मौका न मिलने से वह वापस लौट आए और तीनपानी बाएपास के कार में छोड़कर चले गए। फिलहाल अंकित हत्याकांड में नौकर और नौकरानी फरार चल रहे है।
खुलासे में सामने आया की दीप कांडपाल से वह पिछले 8 साल से प्रेम करती थी जबकि अंकित 6 साले से उसके साथ था। यहां साफ हो गए कि दीप और माही पहले से ही रिलेशन में थे।

Ad