हल्द्वानी में चाचा-भतीजे पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। रविवार देर शाम मंगलपड़ाव स्थित नानक स्वीस्ट्स के पास शराब पीकर सड़क किनारे खड़े चाचा भतीजे को एक लूटरे ने दस हजार रूपये लूट लिए। इसका विरोध करने पर लुटेरे ने चाचा भतीजे पर चाकू और ब्लेड से हमलाकर कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। जबकि घटना को अंजाम देने के बाद लुटेरा वहां से फरार हो गया।

गंभीर अवस्था में दोनों को बेस अस्पताल ले जाया गया। घटना की सूचना पर पुलिस अब लुटेरे की तलाश में लुट गई। जानकारी के अनुसार राजपुरा निवासी 22 वर्षीय अजीत दिवाकर पुत्र छेदालाल ने बताया कि वह राजपुरा क्रासिंग के पास चाउमीन का ठेला लगाता है। जबकि मझोला नानकमत्ता ऊधमसिंहनगर निवासी 40 वर्षीय सर्वेश कुमार पुत्र कालीचरण उसका चाचा है और हवलाई है। सर्वेश ने कुछ दिन पूर्व फतेहपुर में शादी में खाना बनाया था, जिसके 10 हजार रुपये रविवार को वह लेकर लौटा था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- बनभूलपुरा हिंसा में इन पांच लोगों की और हुई गिरफ्तारी

जिसके बाद सर्वेश और अजीत ने मंगलपड़ाव चौकी के पास स्थित शराब ठेके से शराब पी और फिर घर की ओर लौटने लगे। चौकी से चंद कदम की दूरी पर अचानक आए मोहनिया नाम व्यक्ति लुटेरे ने सर्वेश से 10 हजार रुपये लूट लिए और भाग खड़ा हुआ। अजीत ने उसका पीछा कर उसे दबोच लिया। जब लूटेरा पकड़ा गया तो उसने चाकू और ब्लेड से पहले अजीत पर हमला कर दिया जिससे वह लहूलुहान हो गया। तभी बचाव में दौड़े सर्वेश पर भी उसने चाकू से ताबड़तोड़ हमले किए। जिससे सर्वेश का माथा कट गया और पेट फट गया। घटना को अंजाम देकर आरोपी मौके से फरार हो गया।

आनन-फानन में दोनों को बेस अस्पताल ले जाया गया। जहां अजीत के जबड़े और कमर पर 13 टांके लगाए गए। जबकि सर्वेश के पेट में अंदर और बाहर से 22 टांके लगाए गए। घायल अजीत ने बताया कि वह मोहनिया को जानता है और मोहनिया पर कई मुकदमे चल रहे हैं। बदमाश किश्म का मोहनिया कुछ दिन पहले ही जेल से रिहा हुआ था। चाचा के साथ शराब पीने के दौरान मोहनिया ने उन्हें पैसों की बात करते सुन लिया। जिसके बाद वह पीछे लग गया और आखिर में 10 हजार रुपये लूट कर फरार हो गया। इधर मंगलपड़ाव चौकी प्रभारी जयदीप नेगी का कहना है कि दोनों पक्ष एक-दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं। पीड़ित से तहरीर मांगी गई है। तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्जकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल आरोपी लूटरे की तलाश शुरू कर दी।

Ad