हल्द्वानी में पकड़े गए अजब चोर की गजब कहानी, पुलिस भी दंग रह गयी

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। मुखानी क्षेत्र में हुई दो चोरी की तो पुलिस ने खुलासा कर दिया है लेकिन खुलासे के दौरान शातिर चोर ने किस तरह चोरी की वारदात को अंजाम दिया यह अपने में हैरत की बात है। पुलिस ने 23 साल के ऐसे शातिर चोर को गिरफ्तार किया जिसने चोरी के दौरान अपनी पहचान छुपाने के लिए कभी लड़की के कपड़ों में कभी अंडर वियर में ही बंद घर में घुसकर पूरी वारदात को अंजाम दिया है। शतिर चोर की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने राहत की सांस ली है। पकडे़ गए आरोपी के पास से पुलिस ने लाखों के जेवरात व 36 सौ रूपये की नगदी बरामद की है।

रविवार को मुखानी में हुई चोरी का खुलासा करते हुए एसएसपी प्रहृलाद नारायण मीणा ने कहा कि मुखानी थाना क्षेत्र के नूतन कालोनी हिम्मतपुर तल्ला निवासी कुंवर सिंह चौहान के घर बीती 28 जून और भगवानपुर रोड लोहरियासाल तल्ला निवासी सुरेंद्र सिंह बिष्ट पुत्र किशन सिंह के घर 16 सितंबर को चोरी हुई। जिसके बाद पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए चोरों की तलाश शुरू कर दी। जांच के दौरान पुलिस ने 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरों को भी खंगाले गए, साथ ही अपने मुखबिर तंत्र को भी शातिर चोर की तलाश के लिए लगाया गया। लेकिन उस शातिर चोर की पहचान नहीं हो पाई। सीसीटीवी कैमरों में पुलिस को कभी हाथ नजर आया तो कभी पैर में पहना जूता। जिसके बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई शुरू करते हुए कुछ संदिग्ध युवकों को उठाया गया और सख्ती से पूछताछ की और उस शातिर चोर का चेहरा बेनकाब हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से पिथौरागढ़, मुनस्यारी और चंपावत के लिए इस तारीख़ से शुरू होगी हैली सेवा

जिसके बाद पुलिस ने राजबिहार कॉलोनी ेफस-2 मुखानी के राजकुमार राठौर पुत्र राम अवतार को आरके टैंट रोड के पास से हिरासत में ले लिया, और जब उससे पूछताछ की गई तो वह तोते की तरह बोल उठा। उसी की निशानदेही पर साढ़े चार लाख के जेवरात व 36 सौ रूपये की नगदी बरामद की है। गुडवर्क करने वाली टीम में मुखानी थानाध्यक्ष रमेश सिंह बोहरा, आम्रपाली चौकी प्रभारी अनिल कुमार, एसआई दिनेश चन्द्र जोशी, आरटीओ रोड चौकी प्रभारी प्रीती, एसआई गुरविंदर कौर, कांस्टेलब रविन्द्र खाती, महबूब अली, चन्दन सिंह, उमेश राणा, मनीष उप्रेती, सुनील आगरी सहित एसओजी प्रभारी राजवीर सिंह नेगी, हेड कांस्टेल त्रिलोक सिंह, कांस्टेबल भानु प्रताप व तीसरी टीम में एसआई रविन्द्र राणा, हेड कांस्टेबल इसरार नवी शामिल रहे।

Ad