उद्योग के नाम पर कटोरा लेकर घूमना बंद करें मुख्यमंत्री, कांग्रेस प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया का बयान

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया ने राज्य में औद्योगिक निवेश के नाम पर देश-विदेश के दौरे कर रहे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पर तंज करते हुए कहा कि वह औद्योगिक निवेश के नाम पर विदेशों में कटोरा लेकर घूमना बंद करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री धामी इन दिनों ताबड़तोड़ दौरे और रोड शो कर खुद को चमका रहे हैं और कर्ज में डूबे प्रदेश का पैसा बर्बाद कर रहे हैं।
प्रेस को जारी बयान में कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया ने कहा कि उत्तराखंड राज्य बनने के बाद राज्य की पहली निर्वाचित कांग्रेस सरकार के पहले मुख्यमंत्री रहे नारायण दत्त तिवारी जी ने राज्य को विशेष औद्योगिक पैकेज दिलाकर 1000 से अधिक उद्योग स्थापित कराए थे। तब उन्होंने नए उद्योग स्थापित करने के लिए न केवल 6000 एकड़ से अधिक भूमि का प्रबंध किया बल्कि उद्योगों को बिजली पानी समेत अन्य सुविधाओं में खास रियायत दी। राज्य में निवेश के लिए खुद निवेशक तिवारी जी से मिलने पहुंचे। इसके ठीक उलट वर्तमान सरकार के मुखिया पुष्कर सिंह धामी “उत्तराखंड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023” देश विदेश की सैर में मस्त हैं।
ब्रिटेन, दुबई और अबूधाबी की विदेश यात्रा कर चुके मुख्यमंत्री धामी दिल्ली में रोड शो कर चुके हैं। इसके बाद वह बेंगलुरु, अहमदाबाद, मुंबई आदि राज्यों और महानगरों में रोड शो करने वाले हैं। इससे साफ जाहिर है कि मुख्यमंत्री इन्वेस्टर समिट के बहाने खुद को चमका रहे हैं। बल्यूटिया ने मुख्यमंत्री को नसीहत दी कि वह जनता को गुमराह करना बंद करें। क्योंकि कोई भी इन्वेस्टर या उद्योगपति रोड शो के माध्यम से अपना निवेश नहीं करता। उसके लिए प्रॉपर नीति की जरूरत होती है। हैरान करने वाली बात यह कि जहां मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 15475 करोड़, ब्रिटेन में 12500 करोड़ तथा दिल्ली के अलग-अलग कार्यक्रमों में 26575 करोड़ समेत कुल 55000 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव मिलने का दम भर रहे हैं, वहीं इन प्रस्तावों को धरातल में उतरने को खुद ही चुनौती भी मान रहे हैं। इससे साफ जाहिर है कि यह सरकार सिर्फ हवा में हाथ पैर मार रही है। यह सरकार राज्य में पर्यटन नीति, एमएसएमई नीति, स्टार्टअप नीति, लॉजिस्टिक्स नीति, निजी उद्योग स्थापना नीति समेत अन्य बहुआयामी योजनाओं को अभी तक धरातल में लागू नहीं कर सकी है। देश विदेश से निवेशक लाने का दम भर रही यह भाजपा सरकार राज्य के युवाओं के साथ भी खिलवाड़ कर रही है। राज्य में बेरोजगारी की दर लगातार बढ़ती जा रही है। आंकड़ों पर नजर डालें तो वर्तमान में इस छोटे से राज्य की बेरोजगारी दर 14.02% है। जबकि इसकी अपेक्षा उत्तर प्रदेश, हिमाचल, बिहार और मध्य प्रदेश समेत अन्य प्रदेशों में बेरोजगारी की दर उत्तराखंड से कम है।
बल्यूटिया ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को नसीहत दी है कि वह इन्वेस्टर सबमिट के नाम पर सैर सपाटा छोड़ इन्वेस्टरों को यहां आमंत्रित करें और उन्हें ठोस नीति के तहत यहां उद्योग स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करें। इससे जहां राज्य का औद्योगिक एवं आर्थिक विकास होगा वही हजारों युवाओं के लिए रोजगार के अवसर खुलेंगे।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में ईडी की कार्रवाई से हड़कंप, अमरीका में सज़ा काट रहे कारोबारी के घर पड़ा छापा