डिप्रेशन का शिकार हुए हल्द्वानी के रहने वाले वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी की मौत

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। तहसील कार्यालय में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी के पद पर तैनात कर्मचारी होटल के कमरे में बेहोशी की हालत में मिले। मामले की जानकारी तब मिली जब होटल कर्मचारी उनके कमरे में खाना देने को गया। होटल कर्मी द्वारा कई बार दरवाजा खटखटाने के बाबजूद अंदर से कोई प्रतिक्रिया न होने पर उन्होंने पुलिस को जानकारी दी। मौके पर पहुंचे कोतवाल एवं पुलिस टीम ने कमरे का दरवाजा तोड़कर देखा तो वे विस्तर पर अचेत अवस्था में पड़े हुए थे। जिसके बाद उन्होंने उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदार को घटना की सूचना दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे अधिकारियों की उपस्थिति में कर्मचारी को 108 से जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित किया। घटना की जानकारी मृत के परिजनों को दी गई।

वही शव पीएम के लिए मोर्चरी में रखा गया। बता दें कि गोपाल सिंह अधिकारी 59 पुत्र केशर सिंह निवासी द्वाराहाट हाल कमलवागांजा हल्द्वानी रविवार की देर रात दस बजे होटल विवेक के कमरे में बेहोशी की हालत में मिले। यहां वे पिछले लंबे समय से किराए के कमरे में रहते थे। बताया जा रहा है कि गोपाल सिंह पिछले कुछ समय से पारिवारिक परेशानियों को लेकर तनाव में चल रहे थे। इस बीच वे दो तीन दिनों से ड्यूटी पर भी नियमित नही जा रहे थे। सोमवार को पुलिस ने मृतक के शव का उसके परिजन पुत्रा एवं पत्नी की उपस्थिति में पीएम करवाया गया। कोतवाल नेगी ने बताया कि गोपाल की मृत्यु का प्रथम कारण डिप्रेशन लग रहा है। हालाकि पीएम रिपोर्ट के बाद मौत के कारणों का पता चलेगा। पुलिस जांच में जुट गई है।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में उत्तराखण्ड बेरोज़गार संघ के अध्यक्ष बॉबी ने युवाओं को राजनीतिक लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा