900 नोटिस, हल्द्वानी के व्यापारियों में मची खलबली, अधिकारी से तीखी झड़प

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। काठगोदाम से तीनपानी तक पीडब्लूडी की ओर से 900 दुकानों को अतिक्रमण का नोटिस दिए जाने से व्यापारी भड़क गए हैं। मंगलवार को प्रांतीय नगर उद्योग व्यापार मंडल से जुड़े व्यापारियों ने पीडब्लूडी के अधिशासी अभियंता का जोरदार घेराव किया। इस दौरान व्यापारियों की ईई से तीखी नोकझोंक और बहस हो गयी। जिसके बाद ईई ने सभी नोटिस को रद्द कर दिया। उन्होंने कहा कि पुराने दस्तावेज देखने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। काठगोदाम नरीमन तिराहा से तीनपानी तक व्यापारियों को पीडब्लूडी की ओर से नोटिस दिए जाने के विरोध में प्रांतीय नगर उद्योग व्यापार मंडल से जुड़े तमाम व्यापारी ईई कार्यालय धमक गए और ईई अशोक कुमार चौधरी का घेराव किया।

इस दौरान व्यापारियों ने लोक निर्माण विभाग की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि विभाग कि ओर से काठगोदाम से तीनपानी तक व्यापारियों को जो नोटिस दिए जा रहे है वह सब नियम विरुद्ध है और हल्द्वानी में एक भय का माहोल पैदा करने की सोची समझी साजिश के तहत है। प्रांतीय नगर उद्योग व्यापार मंडल इसका पुरजोर विरोध करता है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि पूर्व में इस मार्ग में जो भी निर्माण हुए है वह सब वैध तरीके से हुए हैं फिर नोटिस क्यों भेजे जा रहे हैं। सभी निर्माणों में विभागीय नियमों का पूर्ण पालन हुआ हे तो ऐसे में नोटिस का क्या औचित्य है, जबकि विभाग की अनापत्ति के बाद ही निर्माण का नक्शा स्वीकृत हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी- कर्फ्यू प्रभावित क्षेत्र में मदद के लिए प्रशासन आगे आया

उन्होंने चेतावनी दी कि विभाग से अपनी कार्यशैली में सुधार नहीं किया तो हल्द्वानी बंद करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। ईई अशोक चौधरी ने व्यापारियों को आश्वस्त किया कि पुराने दस्तावेज देखने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी। घेराव करने वालो में प्रदेश महामंत्राी राजेंद्र पफर्स्वाण, केंद्रीय सह संयोजक देवेश अग्रवाल, प्रदेश कोषाध्यक्ष पूरन लाल साह, प्रदेश सचिव राजीव अग्रवाल, प्रदेश संगठन प्रभारी वीरेंद्र गुप्ता, पार्षद राजेंद्र मुन्ना, नुसरत सिद्दीकी, जितेंद्र अरोरा, चमन गुप्ता, रामप्रसाद कश्यप, मोहित सडाना, सन्नी बिरमानी, देवेंद्र कोहली, अविनाश बेलवाल, संजीव आनंद, शमशाद अहमद, संजय वर्मा समेत कई व्यापारी शामिल रहे।

Ad