30 हजार कमाने वाली सब इंजीनियर के पास मिली करोड़ों की संपत्ति, शीशमहल जैसा घर और जमीन देखकर फटीं की फटी रह गयीं आंखें

ख़बर शेयर करें -

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लोकायुक्त ने गुरुवार सुबह बड़ी कार्रवाई की. आय से अधिक संपत्ति के मामले में एमपी पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन में (संविदा) काम करने वाली सब इंजीनियर हेमा मीणा के यहां छापेमारी हुई। उनके विदिशा, रायसेन और भोपाल स्थित ठिकानों पर भी लोकायुक्त ने रेड डाली. कार्रवाई जारी है और अब तक 7 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी का खुलासा हुआ है। दिलचस्प बात है कि सब-इंजीनियर हेमा मीणा को महज 30 हजार महीना वेतन मिलता है और उनके पास करोड़ों की आसामी निकली है.

हेमा मीणा ने पिता के नाम पर बिलखिरिया में 20 हज़ार वर्ग फीट भूमि ली हुई है और 1 करोड़ रुपये का मकान भी बनाया है। इसके अलावा रायसेन और विदिशा में भी उन्होंने करोड़ों की जमीन खरीदी है। अब तक करीब 5 से 7 करोड़ की संपत्ति सामने आई. लोकायुक्त की छापामार कार्रवाई सुबह 6 बजे से चल रही है, जिसमें आय से 230 गुना संपत्ति का खुलासा हुआ है. दरअसल हेमा मीणा के खिलाफ साल 2020 में आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिली थी. इसके बाद जांच शुरू हुई और केस दर्ज किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  इंस्टाग्राम पर महिला से दोस्ती की, मिला तो उम्र देखकर चकरा गया, महिला बोली जबरदस्ती कर रहा था

लोकायुक्त टीम की कमान संभाल रहे डीएसपी संजय शुक्ला के मुताबिक, हेमा मीणा के खिलाफ शिकायत मिलने के बाद विशेष पुलिस स्थापना भोपाल संभाग (लोकायुक्त) ने जांच-पड़ताल शुरू की तो सामने आया कि हेमा ने 20 हजार वर्ग फीट की जमीन अपने पिता के नाम पर बिलखिरिया में खरीदी हुई है। इसके बाद उन्होंने कई करोड़ रुपये खर्च कर घर बनवाया। इसके साथ ही विदिशा, रायसेन और भोपाल में अलग-अलग जगहों पर जमीन खरीदी। जांच में यह भी पता चला है कि उन्होंने ट्रैक्टर, धान बुवाई मशीन, हार्वेस्टर और कई एग्रीकल्टर इक्विपमेंट्स खरीदे थे. उनको महज 30 हजार रुपये तनख्वाह मिलती है। उन्होंने जो भी संपत्तियां ली हैं, वह उनकी इनकम से 230 गुना ज्यादा है. हेमा पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.।

Ad