आशनाई- ट्यूशन टीचर के बॉयफ्रेंड ने उतारा मौत के घाट, होमगार्ड के घर पर मिली लाश

ख़बर शेयर करें -

शहर के बड़े कपड़ा कारोबारी के पौत्र की हत्या
उत्तर प्रदेश के कानपुर के रायपुरवा में शहर के एक बड़े कपड़ा कारोबारी के पौत्र की सोमवार रात अपहरण के बाद हत्या कर दी गई। उसका शव फजलगंज के ओमपुरवा में महिला ट्यूशन टीचर के बॉयफ्रेंड के घर से मिला है। बताया जा रहा है कि आशनाई में महिला ट्यूशन टीचर के प्रेमी ने हत्या की है। आरोपी प्रेमी ओमपुरवा निवासी प्रभात शुक्ला को संदेह था कि उसकी प्रेमिका और कुशाग्र के संबंध हैं। इसलिए उसने उसकी हत्या कर अपहरण और फिरौती की साजिश रची। हत्या के बाद उसने शव को घर में ही छिपा कर रखा था।

मिली जानकारी के अनुसार ट्यूशन टीचर रचिता वत्स का प्रभात शुक्ला के साथ पांच-छह साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। आरोपी के पिता सुनील कुमार शुक्ला होमगार्ड हैं और फजलगंज थाने में तैनात हैं। उन्हीं के घर से शव को बरामद किया गया है। बता दें कि सोमवार देर रात उसका अपहरण हो गया। उसकी स्कूटी लावारिस हालत में गुंजन टॉकीज के पास मिली थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:उपद्रव की आड़ में सिपाही व साथियों ने की थी प्रकाश की हत्या पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

अपहर्ताओं ने कारोबारी के घर में पत्र फेंककर फिरौती मांगी है। पुलिस कमिश्नर डॉ. आरके स्वर्णकार अधिकारियों संग मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल शुरू की थी। रायपुरवा निवासी कपड़ा कारोबारी संजय कनोडिया का कपड़ों का बड़ा कारोबार है। उनका पौत्र कुशाग्र कैंट स्थित जयपुरिया स्कूल में हाईस्कूल का छात्र है। उसके पिता मनीष कनौडिया सूरत में कपड़ों का कारोबार संभालते हैं।

सोमवार को वह अपनी स्कूटी से शाम करीब 4.30 बजे स्वरूपनगर स्थित कोचिंग सेंटर गया था। शाम 7.30 बजे परिजनों ने घर का कुछ सामान लाने के लिए उसके नंबर पर कॉल किया, लेकिन नंबर बंद मिला। घबराए परिजनों ने कोचिंग और कुशाग्र के दोस्तों से फोन पर जानकारी की, लेकिन कुछ पता नहीं चल सका।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:उपद्रव की आड़ में सिपाही व साथियों ने की थी प्रकाश की हत्या पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

परिजनों ने पुलिस अधिकारियों को अपहरण की सूचना दी तो पुलिस सक्रिय हुई। इस बीच अपहर्ताओं ने फिरौती की मांग को लेकर एक पत्र कुशाग्र के घर में फेंका। हालांकि, फिरौती की रकम परिजनों ने सार्वजनिक नहीं की।

मौके पर पुलिस कमिश्नर, जेसीपी आनंद प्रकाश तिवारी, नीलाब्जा चौधरी, एडीसीपी आरती सिंह फोर्स समेत कारोबारी के घर पहुंचे। इस बीच जांच में जुटी पुलिस को जीटी रोड स्थित गुंजन टॉकीज के पास से कुशाग्र की स्कूटी लावारिस हालात में खड़ी मिली।

पुलिस ने छात्र के घर के पास सीसीटीवी कैमरों की मदद से एक संदिग्ध युवक को हिरासत में लिया था। फुटेज में यह युवक अपनी स्कूटी से कारोबारी के घर के पास पहुंचकर फिरौती वाला पत्र फेंकता नजर आया है। पुलिस ने दो युवकों और युवतियों को उठाया था।

Ad