काठगोदाम में बाघ दिखने से दहशत, पत्रकार के सामने अचानक प्रकट हो गया

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। काठगोदाम में बाघ और गुलदार का आतंक बरकार है। वन विभाग को शिकायत करने के बाद भी अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हई है। जबकि गुलदार और बाघ की मूवमेंट सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हो चुकी है लेकिन इसके बावजूद वन विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। जंगली जानवरों के आतंक से काठगोदाम के वाशिंदे परेशान हैं। बुधवार की रात काम समाप्त कर अपने घर लौट रहे पत्रकार दीपक भंडारी का भी घर के पास बाघ से आमना-सामना हो गया।

जिससे वह दहशत में आ गए। किसी तरह से भाग कर अपने घर में जा घुसे। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को सूचना भी दी लेकिन रेंज का हवाला देकर सभी ने हाथ खड़े कर दिए। बुधवार की देर पत्रकार दीपक भंडारी खबरों का संपादन कर गौला बैराज काठगोदाम स्थित अपने घर जा रहे थे। जैसे ही वह घर के मोड़ के पास पहुंचे तभी उनका बाघ से सामना हो गया। साक्षात मौत को सामने देख दीपक भंडारी घबरा गए। गनीमत रही कि बाघ की उनपर नजर नहीं पड़ी और दीपक भंडारी ने मौके की नजाकत का भांपते हुए वहां से दौड़ लगा दी और घर में जा घुसे। घर पहुंच कर उन्होंने विभागीय अधिकारियों से बातचीत की लेकिन रेंज का हवाला देकर सभी ने पल्ला झाड़ दिया।

Ad