कितनी बेहरमी से कत्ल किया, टुकड़ों में काटकर युवक की लाश को बोरियों में भर दिया

ख़बर शेयर करें -

उत्तर प्रदेश के कानपुर के कर्नलगंज थाना इलाके में लालइमली के पीछे अपोलो अस्पताल वाली गली में तीन बोरियों में भरे मिले युवक के शव की शिनाख्त अभी तक नहीं हो सकी है। हत्या क्यों की, किसने की जैसे तमाम सवालों का जवाब तभी मिलेगा, जब शव की पहचान होगी। इसके बाद ही पुलिस रंजिश, प्रेम-प्रसंग या अन्य बिंदुओं पर जांच कर आरोपी तक पहुंच सकती है। बहरहाल वारदात को अंजाम देने वाला हत्यारा है बड़ा शातिर। शव को ठिकाने लगाने में परेशानी होती, इस वजह से उसके टुकड़े किए गए। इतना ही नहीं हत्या के बाद खून का एक-एक कतरा घटनास्थल पर ही निचुड़ जाने दिया। इसके बाद शव को पन्नियों में पैक कर बोरियों में भरा गया। शनिवार सुबह जब बोरियां मिलीं तो किसी भी बोरी में खून का एक भी कतरा लगा नजर नहीं आया। आशंका यह भी है कि हत्या कहीं और कर शव यहां लाकर फेंका गया है।

शव की शिनाख्त के लिए पुलिस ने पिछले 18 दिनों में गायब हुए लोगों की सूची एकत्रित करनी शुरू कर दी है। इसके साथ ही आसपास के कैमरों के फुटेज के जरिये और लोगों को सिर कटी लाश की फोटो दिखाकर शिनाख्त करने में जुटी है। रविवार को कानपुर देहात के रूरा और ककवन से गायब युवकों के परिजनों ने पुलिस से संपर्क किया, लेकिन पहचान नहीं हो सकी। ऐसे में पुलिस का मानना है कि युवक शहर से बाहर का है।

यह भी पढ़ें 👉  इंस्टाग्राम पर महिला से दोस्ती की, मिला तो उम्र देखकर चकरा गया, महिला बोली जबरदस्ती कर रहा था

इंस्पेक्टर कर्नलगंज संतोष सिंह ने बताया कि पुलिस की दो टीमों ने ग्वालटोली चौराहा, लालइमली चौराहा, चुन्नीगंज पेट्रोल पंप, बिरयानी शॉप, बकरमंडी चौराहा समेत सात स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले, लेकिन कोई संदिग्ध नहीं दिखाई दिया। वहीं सिलबट्टन चौराहे पर लगा कैमरा खराब मिला। थानाप्रभारी ने बताया कि पिछले 18 दिनों में नौबस्ता, चकेरी, शिवराजपुर, गुजैनी से युवकों के लापता होने की जानकारी मिली। जिसके बाद पुलिस ने उनके परिवार से संपर्क किया, लेकिन उन्होंने शव को पहचानने से इनकार कर दिया।

Ad