हल्द्वानी में इन रूटों पर जल्द फर्राटा भरेंगी सिटी बसें, सर्वे का काम हो गया है पूरा

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। हल्द्वानी शहर व आसपास के क्षेत्रों के लिए शीघ्र ही लगभग 50 सिटी बसें संचालित की जाएंगी। जिससे यात्रियों को आवागमन में सुविधा मिलेगी। सिटी बसों के लिए मार्गों का सर्वे कर लिया गया हैै। कुमाऊं मण्डल सम्भागीय परिवहन विभाग की समीक्षा में आयुक्त दीपक रावत ने बताया कि सिटी बसें संचालित नहीं होने से आम आदमी को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हांेने कहा एक व्यक्ति काठगोदाम से आम्रपाली जाता है तो उस व्यक्ति को तीन स्टापेज बदलने पड़ते हैं। सिटी बसों के संचालन होने से स्टॉपेज बदलने की समस्या का निराकरण साथ ही ट्रैफिक जाम से निजात मिलेगी।

आयुक्त ने सम्भागीय परिवहन अधिकारी संदीप सैनी को निर्देश दिये कि शीघ्र ही सिटी बसों के मार्ग के रूटों पर बसें संचालित किए जाने हेतु कार्यवाही करने के निर्देश दिए। आयुक्त ने बताया कि इसके पश्चात रूद्रपुर शहर में भी सिटी बसें रूटों पर चलाने हेतु सर्वे किया जाएगा। आयुक्त को बैठक में सम्भागीय परिवहन अधिकारी संदीप सैनी ने बताया कि वाहन को निर्धारित गति सीमा से अधिक गति पर चलाना अथवा लाल बत्ती की अवहेलना करके आगे बढ़ना, वाहन चलाते समय मोबाइल से बात करना, मदिरा का सेवन कर वाहन चलाना, हैलमेट नही पहनने से वाहन चालक का लाईसेंस निलंबन की कार्यवाही की जाती है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-प्रसिद्ध गणितज्ञ प्रोफेसर राजेन्द्र प्रसाद पंत ने शोधपत्रों से विद्यार्थियों को परिचित करवाया

आयुक्त ने आम जनता से अपील की है कि वाहन चालक सडक सुरक्षा के मददेनजर नियमों का पालन करें जिससे दुर्घटना के साथ ही लाईसेंस निलंबन की कार्यवाही से बचा जा सके। बैठक में बताया गया कि वर्ष 2022-23 में कुल 376 करोड़ राजस्व की आय कुमाऊ मण्डल से प्राप्त हुई है। आरटीओ हल्द्वानी ने बताया कि शहर में मोबाइल से बात करने पर 830 लोगों का एवं हैलमेट नही पहनने पर 8437 लोगों का चालान किया गया। आयुक्त ने आरटीओ हल्द्वानी एवं अल्मोड़ा को निर्देश दिये हैं कि जिन लोगों का चालान हुआ है अधिकांश लोगों द्वारा आतिथि तक चालान की राशि ससमय जमा नहीं की है ऐसे लोगों को नोटिस देने के निर्देश बैठक में दिये।

उन्होंने कुमाऊं मण्डल के सम्भागीय परिवहन अधिकारियों को निर्देश दिये कि सड़क सुरक्षा के सम्बन्ध में बैठक प्रत्येक माह आयोजित की जाए जिससे लोगों को वाहन चलाते वक्त जागरूक एवं दुर्घटना सम्भावित क्षेत्रों का चिन्हिकण कर दुर्घटनाओं पर लगाम लग सके। उन्होंने बैठक में निर्देश दिये कि वाहन दुर्घटनाओं में मृत्यु एवं घायलों को प्राथमिकता से सरकार द्वारा निर्धारित मुआवजा शीघ्र दिलाया जाए ताकि उनके परिवारों ही आर्थिक मदद समय से मिल सके। श्री रावत ने कहा कि कुमाऊ मण्डल में जितने भी प्रदूषण केन्द्र संचालित है उनका नियमित मानिटरिंग की जाए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में ईडी की कार्रवाई से हड़कंप, अमरीका में सज़ा काट रहे कारोबारी के घर पड़ा छापा

बैठक में आरटीओ अल्मोड़ा डा. गुरदेव सिंह ने बताया कि बागेश्वर, रानीखेत में कार्यालय के लिए भूमि का चिन्हिकरण कर लिया गया है भूमि आवंटित होने पर कार्यालय के भवनों का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा अल्मोड़ा में 08 ई-रिक्शों का संचालन किया जा रहा है। इसके साथ ही आयुक्त ने बैठक में कर्मचारियों की स्थिति, कार्यालय के भवनों, राजस्व आय, दुर्घटना, लाईसंेस, प्राइवेज वाहनों का पंजीकरण आदि की समीक्षा की। बैठक में उपनिदेशक अर्थसंख्या राजेन्द्र तिवारी, आरटीओ संदीप सैनी, डा. गुरदेव सिह आदि उपस्थित थे।

Ad