मुस्लिम धर्मगुरु मुफ्ती सलमान अज़हरी गिरफ्तार, समर्थकों पर लाठीचार्ज

ख़बर शेयर करें -

भड़काऊ भाषण देने के आरोप में मुस्लिम धर्मगुरु मुफ़्ती सलमान अज़हरी को गिरफ़्तार किया गया है। गुजरात एटीएस और मुंबई एटीएस आरोपी धर्मगुरू को मुंबई के घाटकोपर पुलिस स्टेशन लेकर आई, तो मुफ़्ती सलमान के हज़ारों समर्थक थाने के बाहर जमा हो गए। उन्हें फ़ौरन रिहा करने की मांग करने लगे। भीड़ को क़ाबू करने के लिए पुलिस ने समर्थकों पर लाठीचार्ज भी किया। हालांकि, मुफ़्ती ने अपने समर्थकों से शांत रहने की अपील की। कहा न तो मैं अपराधी हूं, न ही मुझे किसी अपराध के लिए यहां लाया गया है। ये लोग कुछ ज़रूरी जांच कर रहे हैं और मैं भी इनका सहयोग कर रहा हूं। अगर यही मेरी नियति है, तो मैं गिरफ़्तार होने के लिए तैयार हूं।

मुफ़्ती ने गुजरात के जूनागढ़ में एक भाषण दिया था। भाषण का वीडियो वायरल होने के बाद अज़हरी और दो स्थानीय आयोजकों मोहम्मद यूसुफ़ मालेक और अज़ीम हबीब ओडेदरा – के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-बी (धार्मिक समुदाय के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) और 505-(2) (भड़काऊ भाषण) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। बाक़ी दो आरोपियों को गुजरात पुलिस ने पहले गिरफ़्तार किया। फिर गुजरात पुलिस ने धर्मगुरू को गिरफ़्तार करने के लिए महाराष्ट्र पुलिस से संपर्क किया। मुफ़्ती के वकील का कहना है कि रविवार, 4 फरवरी की सुबह लगभग 35 से 40 पुलिसकर्मी सादे कपड़ों में उनके घर पहुंचे। पुलिस ने कथित तौर पर तब ये नहीं बताया कि वो क्यों आए हैं।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  इंदौर में फिर ‘सूरत’-कांग्रेस प्रत्याशी को कार में बिठाकर ले गए कैलाश विजयवर्गीय