नए-नए सरकारी टीचर को क्लासरूम से उठाया, बंदूक की नोक पर करवा दी पकड़ौआ शादी

ख़बर शेयर करें -

फिल्मी अंदाज में 5 से 6 लोग स्कॉर्पियो से स्कूल पहुंचे।
बिहार के हाजीपुर के पातेपुर में गौतम नाम के एक शिक्षक का पकड़ौआ विवाह करा दिया गया। घटना 29 नवंबर की है। बिहार में हाल ही में शिक्षकों की बहाली की गई थी। इसी बहाली में गौतम की भी नई-नई नौकरी लगी थी। वो रेपुरा के एक स्कूल में शिक्षक थे। घटना वाले दिन गौतम जब स्कूल पहुंचे तो उनको किडनैप कर लिया गया। रिपोर्ट के अनुसार, बिल्कुल किसी फिल्मी अंदाज में 5 से 6 लोग स्कॉर्पियो से स्कूल पहुंचे। फिर गौतम को मारते-पीटते अपने साथ ले गए।

इसके बाद स्कूल के प्रिंसिपल ने पुलिस और गौतम के घरवालों को खबर दी। घरवालों ने थाने में अपहरण की शिकायत कर दी। इसके बाद पुलिस स्कूल पहुंची और मामले की पड़ताल करने लगी। कुछ समय बाद पता चला कि गौतम का पकड़ौआ विवाह करा दिया गया है। इसके बाद लड़की के चाचा को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस लड़के को खोजने में लगी रही लेकिन पूरा दिन बीत जाने के बाद भी कुछ पता नहीं चल पाया। नाराज लोगों ने महुआ ताजपुर स्टेट हाइवे को जाम कर दिया और प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए गए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:उपद्रव की आड़ में सिपाही व साथियों ने की थी प्रकाश की हत्या पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

कुछ समय और बीता तो स्थानीय लोगों के फोन पर कुछ वायरल फोटोज और वीडियोज पहुंचे. इससे पकड़ौआ विवाह की बात साबित हो गई। वायरल तस्वीरों में गौतम को एक लड़की के साथ शादी के कपड़ों में देखा जा सकता था। पातेपुर थाना के प्रभारी हसन सरदार ने बताया कि पकड़ौआ विवाह का एक मामला सामने आया है। प्रभारी थानाध्यक्ष ने आगे कहा कि समाज में फैली इस कुरीति को खत्म किया जाना चाहिए। ताकि इस तरह की कोई और घटना ना हो। पुलिस ने महनार थाना क्षेत्र के नारायणपुर डेढ़पुरा गांव में गौतम को खोज लिया. गौतम के साथ वो लड़की भी थी जिससे उनकी जबरदस्ती शादी कराई गई। पूछताछ में शिक्षक ने कहा कि बंदूक की नोक पर उनकी शादी करवाई गई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी:उपद्रव की आड़ में सिपाही व साथियों ने की थी प्रकाश की हत्या पुलिस ने किया सनसनीखेज खुलासा

क्या है पकड़ौआ विवाह
दरअसल पकड़ौआ विवाह में दूल्हे का अपहरण कर बिना सहमति के उसकी शादी करा दी जाती है। रिपोर्ट्स की मानें तो बिहार में 80 के दशक में पकड़ौआ विवाह के अधिक मामले आने शुरू हुए थे। हाल ही में पटना हाई कोर्ट ने राज्य में पकड़ौआ विवाह के एक पुराने मामले में शादी रद्द कर दी थी। कोर्ट ने अपने फैसला में कहा कि जबरदस्ती सिंदूर लगाना या दवाब में लगवाना, हिंदू मैरिज एक्ट के तहत शादी नहीं मानी जाएगा।

Ad