हल्द्वानी बाजार में अतिक्रमण हटाने पर विरोध और अफरातफरी, तीखी नोकझोक

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी के बाजार क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने गई प्रशासन की टीम को भारी विरोध का सामना करना पड़ा। अतिक्रमण की कार्रवाई के विरोध में सैकड़ों व्यापारी उतर आए। उन्होंने इस कार्यवाही का जमकर विरोध किया। करीब एक घंटे तक हंगामे की स्थिति बनी रही। व्यापारियों ने प्रशासन पर उत्पीड़न का आरोप लगाया। कहा कि प्रशासन जान बूझ कर व्यापारियों को परेशान कर रहा है। लंबी जद्दोजहद के बाद व्यापारियों का सामान वापस करने पर सहमति बनी। साथ ही निर्णय लिया गया कि जल्द ही व्यापारियों की बैठक बुलाई जाएगी जिसमें आगामी रणनीति पर चर्चा होगी। रविवार को सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह के नेतृत्व में नगर निगम की टीम पुलिस फोर्स के साथ कालू सिद्ध मंदिर के सामने बाजार क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने पहुंच गई। सड़क पर सामान फैलाए दुकानदारों का सामान जब्त करने की कवायद शुरू कर दी गई।

धीरे-धीरे टीम बाजार की ओर बढ़ने ही वाली थी तभी एक दुकान स्वामी के टीम की तीखी नोकझोंक हो गई। टीम द्वारा व्यापारी का सामान जब्त करने पर वह विरोध में उतर आया। देखते ही देखते विरोध चरम पर पहुंच गया और यहां पर सैकड़ों व्यापारी इकट्ठा हो गए। उन्होंने प्रशासन की इस कार्यवाही का जमकर विरोध किया। कापफी देर तक हंगामे की स्थिति बनी रही। व्यापारियों के विरोध के आगे प्रशासन बेबस सा नजर आया। भारी विरोध की वजह से प्रशासन अतिक्रमण हटाने की जहमत नहीं जुटा पाया। कहा कि त्योहारी सीजन में प्रशासन व्यापारियों का उत्पीड़न करने पर तुला हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-प्रसिद्ध गणितज्ञ प्रोफेसर राजेन्द्र प्रसाद पंत ने शोधपत्रों से विद्यार्थियों को परिचित करवाया

काफी देर तक मौके पर हंगामे की स्थिति बनी रही। जिससे मौके पर अफरातफरी का माहौल बना रहा। व्यापारियों के विरोध के बाद अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही पर ब्रेक लग गया। आधा-पौने घंटे तक जमकर हंगामा हुआ। हंगामे के बीच व्यापारियों ने मेयर डा. जोगेंद्र रौतेला को भी मौके पर बुला लिया। यहां पहुंचे मेयर को व्यापारियों ने अपनी व्यथा सुनाई। कहा कि प्रशासन व्यापारियों का उत्पीड़न कर रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  निकाय चुनाव के लिए नैनीताल प्रशासन ने शुरू की तैयारियां, संवेदनशील बूथों का निर्धारण

त्योहारी सीजन नजदीक है और प्रशासन अतिक्रमण के नाम पर उनका सामान जब्त करने में लगा हुआ है। मेयर की व्यापारियों के साथ काफी देर तक वार्ता हुई। जिसके बाद निर्णय लिया कि जल्द ही प्रशासन और व्यापारियों के बीच बैठक की जाएगी जिसमें अतिक्रमण को लेकर चर्चा की जाएगी। साथ ही व्यापारियों का जब्त सामान वापस करने पर सहमति बनी। इसके अलावा चेतावनी भी दी गई कि अगर भविष्य में सडक पर सामान बिखरा पाया गया तो उसे जब्त कर लिया जाएगा।

Ad