लॉज में ‘विशेष सेवा’-आपत्तिजनक अवस्था में पकड़े गए प्रधानजी

ख़बर शेयर करें -

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ने बुधवार को देहरादून के मुख्य बाजार स्थित चौहान लॉज में लंबे समय से चल रहे देह व्यापार के धंधे का भंडाफोड़ किया। टीम ने मौके से एक ग्राहक और महिला को आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ा। पुलिस ने होटल संचालक और ग्राहक प्रधान को गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

घटना स्थल से दो महिलाओं को भी रेस्क्यू किया है। मंगलवार रात को उपनिरीक्षक अनीता नेगी के नेतृत्व में मुख्य बाजार के होटलों और लॉज में तबाड़तोड़ छापे मारे गए। पुलिस टीम ने चौहान लॉज को चेक किया। आगंतुक रजिस्टर में सभी ग्राहकों की एंट्री नहीं की गई थी। टीम ने शक होने पर सभी कमरों की जांच की।

इस दौरान टीम को लॉज के एक कमरे में एक पुरुष और महिला आपत्तिजनक अवस्था में मिले। मौके पर टीम को आपत्तिजनक सामग्री भी मिली। टीम ने पूछताछ की तो दोनों ने बताया कि लॉज संचालक ग्राहकों को विशेष सेवा के लिए लड़कियां मुहैया कराता है। टीम ने तलाशी जारी रखी तो लॉज की छत पर भी एक महिला छिपी बैठी मिली। महिला ने बताया कि उसको भी विशेष सेवा देने के लिए लॉज में बुलाया गया था। बताया कि वह ग्राहक का इंतजार कर रही थी, लेकिन जैसे ही उसके टीम और पुलिस को देखा तो वह छत पर जाकर छिप गई।

कोतवाली प्रभारी संजय कुमार ने बताया कि मामले में टिहरी गढ़वाल नैनबाग के कांड गांव निवासी लॉज संचालक सुल्तान सिंह और कालसी तहसील क्षेत्र के जैंदऊ गांव निवासी शमशेर सिंह राणा के खिलाफ देह व्यापार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि सुल्तान सिंह कोतवाली क्षेत्र की भट्टा रोड के पास रह रहा है। आरोपी ग्राहक को कालसी क्षेत्र के एक गांव का प्रधान बताया जा रहा है।

Ad