भाजपा नेता के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, जवान बेटे की मौत के डेढ़ साल बाद करंट लगने से पत्नी की मौत

ख़बर शेयर करें -

लालकुआं। बिंदुखत्ता क्षेत्र के पुरानाखत्ता निवासी वरिष्ठ भाजपा नेता लक्ष्मण सिंह खत्री की 55 वर्षीय धर्मपत्नी माया खत्री की करंट लगने से दर्दनाक मौत हो गई। घटना के कारण परिवार में कोहराम मच गया और क्षेत्र में शोक की लहर व्याप्त है। मिली सूचना के आधार पर आज प्रातः लगभग 6 बजे पुरानाखत्ता निवासी लक्ष्मण खत्री की धर्मपत्नी माया खत्री ने घर का काम करने के बाद बाहर बारिश में भीगा फर्राटा फैन को उठाकर अंदर ले जाने को जैसे ही पंखे को पकड़ा ही था कि स्विच बंद होने के बावजूद माया को विद्युत करंट लग गया, और वह मौके पर ही जमीन पर गिर गई, इसी दौरान वहां से गुजर रहे उनके पड़ोस मैं रहने वाले भतीजे ने माया को जमीन पर पड़ा देखा तो शोर मचाकर लोगों को एकत्रित किया, लक्ष्मण सिह खत्री का पुरानाखत्ता चौराहे पर ही जनरल स्टोर की दुकान व टेंट हाउस है ,दोनों पति-पत्नी 5 बजे उठे और अपने-अपने कामों के लिए निकल गये।

लक्ष्मण सिंह खत्री की पत्नी माया खत्री गौशाला में दूध लगाने के लिए गई और वापस आकर घर के बाहर आंगन में रखे फर्राटा फैन को उठाकर अंदर रखने को थी तभी उसे विद्युत करंट लग गया, और वह मौके पर ही अचेत हो गई, तभी उनका भतीजा कन्नू जोकि टेंट हाउस में काम करता है आया और उसने अपनी ताई को उठाने का प्रयास किया तो उसे भी करंट लगा और वह भागते हुए अपने ताऊ लक्ष्मण सिंह को बताने दुकान पर आया, सूचना मिलते ही लक्ष्मण सिंह ने भागकर देखा और सबसे पहले फैन पलग से बाहर किया। चीख-पुकार सुनते ही पड़ोसी और रिश्तेदार एकत्रित हुए आनन-फानन में उन्हें लेकर अस्पताल पहुंचे जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में उत्तराखण्ड बेरोज़गार संघ के अध्यक्ष बॉबी ने युवाओं को राजनीतिक लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा

माया खत्री अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गई हैं उनका बेटा विनोद खत्री उम्र 30 वर्ष अविवाहित है, जबकि उनकी दोनों बेटियों का विवाह हो चुका है। विदित रहे कि डेढ़ वर्ष पूर्व उनके दूसरे पुत्र तारा खत्री की हृदय गति रुकने से मौत हो गई थी। उक्त खबर सुनते ही पूरे गांव में कोहराम मच गया, परिवार एवं रिश्तेदारों का रो-रो कर बुरा हाल था। दोपहर माया खत्री की शव यात्रा निकाली गई और चित्रशिला घाट रानीबाग में उनके पुत्र विनोद खत्री ने मुखाग्नि दी। इधर विद्युत विभाग के उपखंड अधिकारी संजय प्रसाद ने बताया कि वह अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को भेजकर घटनास्थल का मौका मुआयना कराकर घटना की जाँच करेंगे।

Ad