बनभूलपुरा हिंसाः फईम की मौत के मामले में अदालत के आदेश पर दर्ज हुआ हत्या का मुकदमा, पड़ोसियों पर हैं गंभीर आरोप, पुलिस दुबारा जांच करेगी

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। इसी वर्ष विगत आठ फरवरी को बनभूलपुरा हिंसा के दौरान मारे फईम के मामले में अब दोबारा जांच होगी। इस मामले में बनभूलपुरा पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। फईम की हत्या का आरोप उसके पड़ोसियों पर है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश के बाद मुकदमा दर्ज कर नए सिरे से जांच की जा रही है।

मामला 8 फरवरी को बनभूलपुरा में हुई हिंसा से जुड़ा है। इसमें गांधीनगर बनभूलपुरा निवासी फईम की मौत हो गयी थी। मृतक के भाई परवेज ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में प्रार्थना पत्र देकर आरोप लगाया कि उसके भाई की मौत हिंसा में नहीं बल्कि उसके आधा दर्जन से अधिक पड़ोसियों ने गोली मारकर हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें 👉  इतना दुस्साहस........हल्द्वानी में चौकी इंचार्ज को गाड़ी से कुचलने की कोशिश, गंभीर चोटें

कहा इस साजिश में हत्यारोपी का बेटा, उसके परिवार व अन्य लोग शामिल हैं। घटना के दिन मुख्य आरोपी अपने साथियों के साथ घर के बाहर एकत्र हुए और उनके वाहनों को आग लगा दी। जब फईम ने उसका विरोध किया तो पड़ोसी ने गोली मार दी।

घायल फईम को तत्काल नैनीताल रोड स्थित एक निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मामले में अदालत ने पुलिस को अज्ञात के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर जांच के निर्देश दिये। साथ ही कहा, यदि आरोपियों के खिलाफ तथ्य पाये जाते हैं तो उन्हें मामले में नामजद किया जाए।

यह भी पढ़ें 👉  Deepak Rawat: एक्शन में कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत, नैनीताल दुग्ध संघ के जीएम को हटाया

नैनीताल के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने बनभूलपुरा थाना प्रभारी को जांच के बाद रिपोर्ट अदालत में पेश करने को कहा है। बनभूलपुरा थानाध्यक्ष नीरज भाकुनी ने बताया कि न्यायालय के आदेश पर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

मुख्यमंत्री से लेकर मानवाधिकार तक शिकायत
मृतक फईम के भाई परवेज ने न्यायालय को दिए प्रार्थना पत्र में कहा है, इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और मानवाधिकार आयोग को की, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। हालांकि इस मामले की जांच बनभूलपुरा पुलिस पहले ही कर चुकी है। जिसकी आख्या भी अदालत में पेश की गई थी, जिसमें पुलिस ने कहा था कि मृतक फईम हिंसा का शिकार हुआ है।

Ad