रास्ते की उम्मीद में हल्द्वानी के चार दोस्त घने जंगल में फंसते चले गए, शुक्र है नैनीताल पुलिस ने बचा लिया

ख़बर शेयर करें -

शनिवार की रात भारी मूसलाधार बारिश के बीच हल्द्वानी के चार युवक कोटाबाग (कालाढूंगी) के जंगल में भटक गए। जब उन्हें जंगल से बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं मिला तो उन्होंने हल्द्वानी में अपने परिवार वालों को इसकी सूचना दी।

परिजनों ने 112 पर कॉल कर पुलिस को सूचना दी। एसओ भगवान महर ने तत्काल टीम गठित कर लोगों को खोजने की कार्रवाई की। एसओ ने बताया कि जंगल में लगभग 10 किलोमीटर अन्दर जाकर चारों लड़कों को सकुशल बरामद कर उनके परिजनों के सुपुर्द किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  हर्षिका की शारीरिक लाचारी को कान्हा की समझ सकते थे, सात फेरे ले लिए, हल्द्वानी में अनूठा विवाह

एसओ ने बताया कि उत्तर उजाला बरेली रोड हल्द्वानी निवासी 32वर्षीय आसिफ पुत्र जमील अहमद, 26वर्षीय अरसान पुत्र असलम सैफी, 31वर्षीय वसीम अहमद पुत्र एचएन सैफी, 32वर्षीय राजा सैफी पुत्र अमीर उद्दीन सैफी को रेस्क्यू कर जंगल से बाहर निकाला। रैस्क्यू टीम में एएसआई तनवीर आलम, राजाराम सिंह, हृदेश कुमार, मनोज द्विवेदी तथा वनकर्मि शामिल रहे।

यह भी पढ़ें 👉  पेड़ हम लगाएंगे देखभाल आपको करनी है, हल्द्वानी में वन्दे मातरम ग्रुप की मुहिम

जंगल में भटके युवकों ने बताया कि काफी चलने के बाद उन्हें एक जगह श्मशान घाट दिखा। उन्होंने सोचा कि आगे जाकर कहीं कोई गांव होगा, जहां जाकर रास्ता पूछकर अपने घर चले जाएंगे। गांव की उम्मीद में चारों दोस्त तेज बारिश में जंगल के अंदर ही जाते रहे।

Ad