क्रिप्टो में ऑनलाइन ट्रेडिंग करते करते इस्लाम का समर्थक बन गया देहरादून का वैभव, परिजनों ने पुलिस को बुलाया, हुआ शॉकिंग खुलासा

ख़बर शेयर करें -

क्रिप्टो में ऑनलाइन ट्रेडिंग करते-करते देहरादून के डोईवाला का एक युवक इस्लाम का समर्थक बन गया। वह तीन-चार साल से घर से बाहर तक नहीं निकला है। ऑनलाइन इस्लामिक साहित्य पढ़ने और कुछ ग्रुपों से जुड़कर उसका मूल धर्म से इतना मोह भंग हुआ कि पिता के टोकने पर मारपीट करने लगा। उसने ऑनलाइन नमाज पढ़ना भी सीख लिया। उसकी गतिविधियां देखकर परिजनों ने ही पुलिस से शिकायत की।

पुलिस के अनुसार, डोईवाला कोतवाली क्षेत्र के बुल्लावाला के एक व्यक्ति ने शुक्रवार को पुलिस से शिकायत थी। उन्होंने बताया था कि उनका बेटा वैभव बिजल्वाण बीते तीन-चार साल से घर से बाहर नहीं निकला है। वह ज्यादातर समय अपने कमरे में ही रहता है। एक दिन जब उसके पिता ने वैभव से बात की तो वह खुद को मुस्लिम बताने लगा। उन्होंने टोका और उसे मनोचिकित्सक के पास ले जाने को कहा। इस पर वैभव ने पिता के साथ ही मारपीट की। परिवार के अन्य सदस्यों के साथ भी अभद्रता करने लगा। शिकायत के आधार पर पुलिस मौके पर पहुंची और कमरे की जांच-पड़ताल की। एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि युवक के कमरे से एक लैपटॉप मिला है।

बताया जा रहा है कि उसने तीन साल पहले लॉकडाउन के वक्त क्रिप्टो में ट्रेडिंग शुरू की थी। इसी दौरान वह कुछ इस्लामिक ग्रुप से जुड़ गया। वहां उसने उर्दू बोलना सीख लिया। कमरे में बैठकर पांच वक्त की नमाज भी पढ़ता है। वैभव का लैपटॉप कब्जे में लिया गया है। उससे पूछताछ भी की जा रही है। प्रथमदृष्टया वह डिप्रेशन में लग रहा है। उसके पिता उसे डॉक्टर के पास ले जाना चाह रहे थे। उसके लैपटॉप में यूट्यूब वीडियो की हिस्ट्री भी मिली है।

यह चौनल कहां के हैं और कौन इन्हें चला रहा है, इसकी जांच की जा रही है। एसएसपी ने बताया कि वैभव केवल खाना खाने के लिए ही कमरे से बाहर आता था। इस दौरान भी वह इस्लाम के बारे में ही बात करता था। पुलिस ने भी जब उससे पूछताछ की तो वह खुद को मुस्लिम ही बता रहा है। वह इस्लाम की तारीफें कर रहा है और अपने मूल धर्म के बारे में अनर्गल बातें कर रहा है। घरवालों से भी वह इस्लाम के बारे में ही बातें कर रहा था।

Ad