दुबई में साधारण से दिखने वाले इस आदमी की गिरफ्तारी ने आधा बॉलीवुड हिला डाला, कई नेता भी ईडी के लपेटे में, जानिये मामला क्या है

ख़बर शेयर करें -

महादेव ऑनलाइन बेटिंग ऐप के एक मालिक को दुबई में धर लिया गया है। ऐप चलाने वाले दो मुख्य लोग थे। उनमें से एक है रवि उप्पल। मीडिया रिपोटों के मुताबिक़ उसे पिछले हफ़्ते हिरासत में लिया गया था और तब से वो हिरासत में ही है। प्रवर्तन निदेशालय ईडी के अफ़सर उसे भारत लाने के लिए दुबई के अधिकारियों से बात कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ पुलिस और मुंबई पुलिस के अलावा अवैध सट्टेबाज़ी के आरोप में ईडी भी उप्पल की जांच कर रही है।

इसी साल के अक्टूबर में ईडी ने छत्तीसगढ़ के रायपुर में विशेष मनी लॉन्ड्रिंग रोकथाम अधिनियम अदालत के सामने रवि उप्पल और सौरभ चंद्राकर – ऐप के दूसरे मालिक – के खिलाफ़ आरोप पत्र दायर किया था। उप्पल कथित तौर पर महादेव सट्टेबाजी प्लेटफॉर्म के ज़रिए मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला लेनदेन करता था। ये फ़्रॉड क़रीब क़रीब 6,000 करोड़ रुपये का फ़्रॉड बताया जा रहा है और इसे यूीएई से चलाया जा रहा था।

यह भी पढ़ें 👉  वैक्सीन के सर्टिफिकेट से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फोटो और नाम गायब....वैक्सीन से जुड़ी दूसरी एक और बड़ी खबर यहां पढ़िये

ईडी के आरोप पत्र के मुताबिक़, उप्पल ही छत्तीसगढ़ के नौकरशाहों और नेताओं को मध्यस्थता (लाइज़निंग) के पैसे भेजता-भिजवाता था। उप्पल ने प्रशांत महासागर में एक द्वीप देश वानुअतु का पासपोर्ट ले लिया था और भारत की नागरिकता छोड़ी भी नहीं।
7 नवंबर को ईडी ने इंटरनैशनल पुलिस से मांग की थी, कि वो उसके ख़िलाफ़ रेड नोटिस जारी करें। नवंबर में ही एजेंसी ने दावा किया था कि फोरेंसिक विश्लेषण और केस के एक आरोपी से पता चला है कि इस ऐप प्रमोटरों ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को लगभग 508 करोड़ रुपये दिए थे। हालांकि, अभी बस ये आरोप ही हैं। जांच का विषय है और जांच चल रही है।

यह भी पढ़ें 👉  कोविड में कोविशील्ड लगवाई थी क्या ? बहुत बड़ी और बहुत बुरी खबर सामने आई है, कंपनी ने भी कुबूल लिया

जांच के दौरान रणबीर कपूर, श्रद्धा कपूर, हुमा कुरेशी, कपिल शर्मा, बोमन ईरानी और हिना खान समेत कई बॉलीवुड हस्तियों को ईडी ने तलब किया था। एजेंसी को शक है कि उन सब ने उप्पल और चंद्राकर के कार्यक्रमों में शामिल होने या परफ़ॉर्म करने के लिए बहुत पैसे लिए हैं.

Ad