खुशखबरी:- 23 दिन, 35 लाख शादियां…4.25 लाख करोड़ का होगा कारोबार, तैयारियों में जुटे व्यापारी

ख़बर शेयर करें -

भारत में दिवाली के बाद देवउठनी एकादशी के बाद शादियों का सीजन शुरू हो जाता है। देश के अलग-अलग हिस्सों में शादियों की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। शादियों  सीजन में इस बार व्यापारी बड़े व्यापार की उम्मीद लगाकर बैठे हैं। व्यापारी आगामी शादियों के सीजन में बड़ी बिक्री करने की तैयारियों में जुट गए हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2023 में देशभर में 35 लाख शादियां होने की संभावना जताई गई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि देशभर में होने वाली 35 लाख शादियों में करीब 4।25 लाख करोड़ का कारोबार हो सकता है। जो कि अब तक का सबसे ज्यादा कारोबार होगा।

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया ने बताया की कैट की रिसर्च शाखा कैट रिसर्च एंड ट्रेड डेवलपमेंट सोसाइटी द्वारा हाल ही में देश के 20 प्रमुख शहरों के व्यापारियों एवं सर्विस प्रोवाइडर के बीच सर्व किया गया है। इस सर्वे के अनुसार अकेले दिल्ली में इस सीजन में 35 लाख से अधिक शादियां होने की उम्मीद है। इस सीजन में दिल्ली में लगभग 1 लाख करोड़ रुपये का कारोबार होगा। पिछले साल इसी अवधि में करीब 32 लाख शादियां हुईं थी।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने अयोध्या में किये रामलला के दर्शन

ये हैं शुभ मुहूर्त
कैट की आध्यात्मिक एवं वैदिक ज्ञान समिति के अध्यक्ष एवं प्रख्यात वैदिक विद्वान आचार्य दुर्गेश तारे ने बताया कि नक्षत्रों की गणना के अनुसार 23 नवंबर देवउठनी एकादशी के दिन से विवाह की तिथियां शुरू होंगी। नवंबर में 23, 24, 27, 28 और 29 नवंबर को शादी का मुहूर्त है। वहीं दिसंबर महीने में 3, 4, 7, 8, 9 और 15 तारीख विवाह के लिए शुभ हैं। उसके बाद एक महीने के तारा अस्त होता है। मध्य जनवरी से एक बार फिर शुभ दिन शुरू होंगे

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने अयोध्या में किये रामलला के दर्शन

इस शादी सीजन में करीब 6 लाख शादियों में प्रति शादी 3 लाख रुपये का अनुमानित खर्च आएगा। 10 लाख शादियों में प्रति शादी करीब 6-12 लाख रुपये का खर्च आएगा। 6 लाख शादियों में प्रति शादी 25 लाख खर्च होंगे, 50 हजार शादियों में प्रति शादी 50 लाख खर्च होंगे और 50 हजार शादियां ऐसी होंगी जिनमें 1 करोड़ या उससे अधिक पैसे खर्च होंगे। इस एक महीने के शादी के सीजन में बाजारों में शादी की खरीदारी से करीब 4।25 लाख करोड़ रुपये का कारोबार होगा। इसके बाद 15 जनवरी से एक बार फिर शादियों का सीजन शुरू होगा।

Ad