नैनीताल-अतिक्रमण हटाने के विरोध में सड़कों पर उतरे हज़ारों लोग, मौन, मशाल जुलूस

ख़बर शेयर करें -

ज्योलीकोट। अतिक्रमण के खिलाफ की जा रही कार्यवाही के विरोध में उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी क्रांति मोर्चा के साथ अतिक्रमण प्रभावितों ने देर शाम सात बजे मशाल जुलूस निकाला जिसका नेतृत्व पूर्व विधायक डा. नारायण सिंह जंतवाल ने किया। पूर्व सांसद एडवोकेट डा महेंद्र पाल ने शिरकत करते हुए भी संबोधित किया। नलेना से प्रारंभ उक्त मशाल जुलूस ज्योलीकोट बाजार में आकर सभा में बदल गया। जहां मुख्य वक्ता डा जंतवाल ने कहा कि अतिक्रमण के नाम पर उजाड़ने का प्रयास किया जा रहा है उन्होने कहा कि इस के दूरगामी दुष्प्रभाव होंगे सरकार को न्यायालय में अपना पक्ष मजबूती से रखना चाहिए।

उन्होने कहा कि सरकार पहले प्रदेश में भूमाफियाओं से सरकारी जमीन को छुड़वाए कराये। श्री जंतवाल उपस्थित लोगों का आह्वान किया कि एकजुट होकर संघर्ष जारी रखें। पूर्व सांसद महेंद्र पाल, राज्य आंदोलनकारी लीला बोरा ने कहा कि प्रदेश का विकास के नाम पर विनाश का कुचक्र रचा गया है। उन्होंने कहा कि संबंधित विभाग उत्पीड़न पर आमादा है जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  पूर्व विधायक की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से उत्तराखण्ड हाईकोर्ट का इनकार

इस दौरान यूकेडी के कई पदाधिकारी, संगठन के जिला अध्यक्ष गणेश सिंह बिष्ट, इंदर नेगी, मनोज साह, मनमोहन कनवाल, महेश जोशी, मुनीर आलम, पान सिंह सिजवाली, भुवन रावत, दीपक जीना, दर्शन जीना, भानू सिंह, प्रदीप, मयंक, राजेंद्र कोटलिया, वीरभट्टी गेठिया, बेलुवाखान, ज्योलिकोट,भलयूटी नलेना, आमपड़ाव, दोगांव, डोलमार, भुजियाघाट, से बड़ी संख्या में अतिक्रमण प्रभावितों ने हिस्सा लिया। संचालन हरीश वारियल ने किया।

Ad