uttarakhand–लकड़ी तस्करों से वन विभाग की मुठभेड़, कुख्यात तस्कर के पैर में लगी गोली

ख़बर शेयर करें -

लालकुआं। तराई केंद्रीय वन प्रभाग की टांडा रेंज में रविवार सुबह लकड़ी तस्करों और वन विभाग की टीम में मुठभेड़ हो गयी जहां वन विभाग की जवाबी फायरिंग में एक लकड़ी तस्कर को गोली लगी है जिसे गम्भीर हालत में सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रविवार सुबह वन विभाग की संयुक्त टीम जब सूचना पर तस्करों को पकड़ने पहुंची तो लकड़ी तस्करों ने वन विभाग की संयुक्त टीम पर फायरिंग कर दी जिसमें वनकर्मी बाल-बाल बच गए। वन विभाग की जवाबी कार्यवाही में लखविंदर सिंह लक्कू नाम के तस्कर को गोलियां लगी। वन विभाग की टीम ने मौके पर तीन तस्करों को भी गिरफ्तार किया है। साथ ही टीक ने वन तस्करों के कब्जे से एक पिकअप वाहन मे भारी मात्रा में बेशकीमती लकड़ी बरामद करते हुए मौके पर एक 315 बोर का अवैध देशी तमंचा भी बरामद किया है।

फिलहाल वन विभाग ने सभी तस्करों के खिलाफ लालकुआं कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। इधर मामले की जानकारी देते हुए टांडा रेंज के वन क्षेत्राधिकारी रूपनारायण गौतम ने बताया कि आज सुबह जब वन विभाग को सूचना मिली कि लालकुआं के समीप कुछ वन तस्कर लकड़ी काटकर एक वाहन मे ले जा रहे हैं जिसके बाद वन विभाग और एसओजी की संयुक्त टीम ने मौके पर पहुंचकर तस्करों को रोकने की कोशिश की। इस दौरान वन तस्करों ने वन विभाग की टीम पर पफायरिंग शुरू कर दी जिसपर वन विभाग की जवाबी पफायरिंग में कुख्यात वन तस्कर लखविंदर सिंह लक्कू निवासी बरहैनी बाजपुर उधमसिंह नगर को पैर में गोली लगी है जिसको गम्भीर हालत में सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में भर्ती कर गया है। इसके अलावा घटना में शामिल दो अन्य तस्करों को भी वन विभाग ने मौके पर गिरफ्रतार किया है। वन विभाग की इस कार्यवाह में आरोपियों के पास से पिकअप वाहन में भारी मात्रा में बेशकीमती सागौन की लकड़ी, एक बाइक बरामदी के साथ ही मौके पर एक 315 बोर का तमंचा भी बरामद किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  बनभूलपुरा हिंसा- अब्दुल मलिक को उत्तराखण्ड हाईकोर्ट से बड़ी राहत

कुख्यात लकड़ी तस्कर है लखविन्दर
वन क्षेत्राधिकारी रूपनारायण गौतम ने बताया कि घायल लखविंदर सिंह कुख्यात लकड़ी तस्कर है। 2019 में लखविंदर सिंह ने वनकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी थी जिस मामले में वह जेल में बंद था और इन दिनों जेल से छूट कर आया हुआ है। उन्होंने बताया कि वन तस्करों की फायरिंग में वन विभाग के कर्मचारी बाल बाल बचा है। पूरे मामले में तस्करों के खिलाफ लालकुआं कोतवाली में मामला दर्ज कराया गया है। इधर पुलिस क्षेत्राधिकारी संगीता ने बताया कि वन विभाग द्वारा मिली तहरीर पर मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

Ad